भाजपा का चुनावी उद्देश्य, भ्रष्टाचार पर प्रहार

January 14, 2017

उत्तर प्रदेश को उत्तम प्रदेश बनाने के इरादे से मैदान में उतरी भारतीय जनता पार्टी का मूल उद्देश्य राज्य में विकास कार्यों को प्रबल करना है। नोटबंदी का ऐतिहासिक फैसला लेकर केंद्र सरकार ने यह साबित कर दिखाया है कि भाजपा पार्टी भ्रष्टाचार का पुर्जोर तरीके से विरोध करती हैं और इस बार विधानसभा चुनावों में भाजपा का नारा, 'न गुण्डाराज न भ्रष्टाचार, अबकी बार भाजपा सरकार' उनके उद्देश्य को दर्शाता है।

पार्टी के शीर्ष नेताओं का कहना है कि प्रदेश में बीजेपी का चुनावी अजेंडा हमेशा से विकास और परिवर्तन लाना है ना कि जातिवाद के दम पर वोट बैंक बनाना और इस अजेंडा को पूरा करने के लिये बीजेपी के नेता जोर-शोर से जुट गए हैं। बीजेपी प्रदेश में भ्रष्टाचार को दूर करने के साथ-साथ गरीबों के विकास और उन्हें मुख्यधारा से जोड़ने के लिए काम करेगी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र भाई मोदी जी द्वारा उत्तर प्रदेश में की गई सभी चुनावी रैलियों में प्रदेश की जनता ने बीजेपी के लिये अपना भरपूर समर्थन दिखाया है। देश की जनता ने सरकार द्वारा लिये विमद्रीकरण के फैसले को पूर्ण समर्थन दिया जिसका सबूत लोगों ने तीन राज्यों में हुए उप-चुनावों में बीजेपी को जीत दिलाकर दिया है। विधासभा चुनावों में भी बीजेपी को जनता का पूर्ण साथ मिलेगा और उत्तर प्रदेश की जनता बीजेपी को पूर्ण बहुमत से विजयी बनाएगी।